asian countries News: करॉना वायरस: अस्पतालों के बाहर 2 दिन तक लंबी लाइनें, परेशान हो रहे नागरिक – desperate residents of coronavirus hotspot wuhan face two-day queues to see a doctor


Published By Naina Gupta | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

हाइलाइट्स

  • करॉना से अब तक 56 लोगों की मौत
  • अभी तक चीन में 1,975 लोग करॉना से प्रभावित
  • वुहान में फिलहाल इमरजेंसी जैसे हालात
  • फ्रांस में भी करॉना के 3 मामले सामने आए

नई दिल्ली

करॉना वायरस से जूझ रहे चीन के वुहान शहर के अस्पतालों में लगी लाइनों को देखकर ऐसा लग रहा है जैसे कि ‘कयामत का दिन’ आ गया है। चीन ने करॉना वायरस को फैलने से रोकने के लिए शहर से आवाजाही पर पूरी तरह रोक लगा दी है। अभी तक करॉना वायरस से करीब 2 हजार लोग संक्रमित हो चुके हैं। वुहान में इमरजेंसी जैसे हालात हैं और चीन के इस बड़े शहर में मरीजों के इलाज में मदद के लिए 450 मिलिट्री डॉक्टरों को लगाया गया है। वहां करॉना वायरस की उत्पत्ति समुद्री जीवों और जानवरों के बाजार से हुई है।

शहर से बाहर जाने पर रोक

वुहान के बाहरी इलाकों में पुलिस ने रास्ते ब्लॉक कर दिए हैं ताकि वायरस के केंद्र इस शहर से कोई भी बाहर न जा सके। शनिवार को चीन का नववर्ष शुरू हुआ। इसका जश्न भी शहर के अंदर ही मनाना पड़ा, वो भी मास्क पहनकर। वहीं, अस्पतालों के आगे लंबी-लंबी लाइनें लगी हैं। करीब 1 करोड़ 10 लाख की आबादी वाले इस शहर में अब तक करॉना के कहर से 1,975 लोग प्रभावित हो चुके हैं जबकि 56 की मौत हो चुकी है।

डेलीमेल की रिपोर्ट के मुताबिक, शहर में अस्पतालों के बाहर लगी लाइनों से लोग गुस्से में हैं और परेशान हो चुके हैं। पहचान उजागर नहीं करने की शर्त पर एक व्यक्ति ने कहा, ‘डॉक्टर को दिखाने के लिए कम से कम 5 घंटे लग रहे हैं।’ वहीं एक दूसरे व्यक्ति का कहना था कि कुछ लोगों को तो 2 दिनों तक का इंतजार करना पड़ रहा है। वुहान के एक नागरिक शाओशी (36 वर्षीय) का कहना था कि उन्हें करॉना वायरस की जांच कराने के लिए अपने बीमार पति को अस्पताल में दिखाने में पूरा हफ्ता लग गया। उन्होंने साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट से कहा, ‘मेरे पास कुछ नहीं है। मेरे पास ठीकठाक कपड़े भी नहीं हैं। सिर्फ एक रेनकोट है और मैं बारिश में अस्पताल के बाहर खड़ी हूं। मैं परेशान हूं। मैं दिन और समय देखना जैसे भूल गई हूं। मुझे नहीं पता कि हम दोनों न्यू ईयर देखने के लिए जिंदा भी रहेंगे या नहीं।’

NBT

सिर्फ मेडिकल इमरजेंसी स्टाफ को एंट्री

गौर करने वाली बात है कि शनिवार की सुबह सिटी सेंटर से करीब 12 मील पूर्व से बंद सड़कों पर कारों को आते देखा गया। मास्क और जैकेट पहने पुलिसकर्मियों ने इन कारों से वापस शहर में जाने को कहा। शहर से बाहर जाने के लिए पड़ने वाले एक टोलबूथ को लाल और पीले रंग के प्लास्टिक बैरियर और कोन के साथ बैरिकेड कर दिया गया। एक पुलिसकर्मी ने कहा, ‘कोई भी शहर छोड़कर नहीं जा सकता।’

खबरों के मुताबिक सिर्फ दो वाहनों को ही बंद रास्तों के जरिए शहर से बाहर जाने की अनुमति मिली। इनमें से एक दवाइयां खरीदने जा रहे एक अधिकारी की थी जो वाइट वैन में शहर से बाहर गए, लेकिन यह वैन भी शहर में वापस लौट जाएगी। अथॉरिटीज ने वुहान के आसपास बसे 17 दूसरे शहरों में भी आवाजाही रोक दी है। अधिकारियों की कोशिश है कि करॉना वायरस को SARS वायरस की तरह न फैले। फिलहाल हुबेई प्रांत के करीब 5 करोड़ 60 लाख लोगों को यात्रा करने से रोक दिया गया है।

किसी भी व्यक्ति के वुहान से बाहर जाने पर पाबंदी है, लेकिन वुहान में अस्पतालों की मदद के लिए कुछ मेडिकल स्टाफ को बैरिकेड हटाकर शहर के अंदर जाने की अनुमति दी गई है। इसके अलावा बंद रास्ते पर सभी जरूरी डॉक्युमेंट्स दिखाने के बाद एक खाली सड़क को भी वुहान में एंट्री दे दी गई। वुहान वापस आईं 3 युवा नर्सों का कहना था कि वे छुट्टियों पर अपने घर गईं थीं लेकिन महामारी फैलने के चलते उन्हें छुट्टियों से जल्दी वापस यहां आना पड़ा है।

NBT

लूनर न्यू ईयर पर ‘प्रलय’

बता दें कि चीन में लूनर न्यू ईयर को नए साल के तौर पर मनाया जाता है, लेकिन वुहान में इस बार सड़कें सुनसान ही रहीं। वुहान की शाओशी का कहना था लूनर न्यू ईयर ईव इस बार उन्हें किसी ‘प्रलय’ जैसा लगा क्योंकि शहर में ऐसी कोई जगह नहीं थी जहां वह और उनके बीमार पति जा सकें।

वुहान के अधिकारी एक सप्ताह में एक दूसरा नया अस्पताल तैयार कर लेंगे। इस अस्पताल में 1,300 नए बेड होंगे। स्थानीय मीडिया ने यह जानकारी दी। करॉना वायरस को नियंत्रित करने के लिए अधिकारिों ने एक नए फील्ड हॉस्पिटल की बिल्डिंग बनानी शुरू कर दी है।

चीन की न्यूज एजेंसी शिन्हुआ की खबर के मुताबिक वुहान में अस्थाई सुविधाओं के साथ दो नए अस्पताल बनाए जाएंगे। 2003 में SARS को नियंत्रित करने के लिए भी इसी तरह की व्यवस्था की गई थी। चीन और हॉन्ग कॉन्ग में इस वायरस से उस समय 650 लोगों की मौत हो गई थी।

डॉक्टरों की टीम करेगी करॉना से मुकाबला

SARS और इबोला जैसे वायरस से लड़ने वाली डॉक्टर्स की टीम शुक्रवार देर शाम मिलिट्री एयरक्राफ्ट से वुहान पहुंच गई थी। चिंतित स्थानीय नागरिकों और प्रभावित लोगों की भीड़ की जांच के लिए इन डॉक्टर्स को अस्पतालों में ड्यूटी पर लगा दिया गया है। सरकार का कहना है कि सबसे ज्यादा मामले हुबेई में सामने आए हैं और अधिकतर उन लोगों की मौत हुई है जो पहले ही किसी बीमारी से जूझ रहे थे।

चीन में नैशनल हेल्थ कमीशन ने देशभर में आदेश दिए हैं कि प्लेन, ट्रेन और बस से वायरस को दूसरी जगह ले जा रहे लोगों की जांच की जाए। शिन्हुआ ने शनिवार को जानकारी दी थी कि देशभर में 387 रेलवे स्टेशनों पर टेम्परेचर स्क्रीनिंग चेकपॉइन्ट्स बनाए गए हैं।

दवाई खरीद रहे एक व्यक्ति ने कहा, ‘हर कोई खुद को बचाने की कोशिश कर रहा है। सरकार इस मामले को देख रही है। यह कोई समस्या नहीं है।’ SARS जैसे लक्षणों के चलते इस वायरस को लेकर दुनियाभर में चिंता है।



फ्रांस में भी 3 मामले


गौर करने वाली बात है कि नए करॉना वायरस से चीन और दूसरे 1 दर्जन देशों में लोग प्रभावित हुए हैं। फ्रांस ने भी तीन लोगों के करॉना वायरस से प्रभावित होने की पुष्टि कर दी है।

पेइचिंग में शंघाई डिजनीलैंड और ग्रेट वॉल को भी सावधानी के तहत टूरिस्ट के लिए बंद कर दिया गया है। इस साल लूनर न्यू ईयर ईव पर चीन के फिल्म बॉक्स-ऑफिस की कमाई पिछले साल की तुलना में सिर्फ वन-टेंथ रह गई।

वुहान के रहने वाले 49 वर्षीय वैंग फैंग ने कहा, ‘आमतौर पर हम एक परिवार के तौर पर न्यू ईयर सेलिब्रेट करते हैं। अब, वायरस के चलते मैं अपने मां-बाप के पास भी नहीं जा रहा। अच्छा रहेगा कि हम इस वायर से लड़ने में कामयाब हो सकें।’ सिटी सेंटर में मंदिरों को बंद कर दिया गया और छुट्टियों की तैयारियां भी रद्द कर दी गईं हैं।



Source link

16 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *