हरियाणा के किसान नेता चढूनी की सियासी आकांक्षा अब पंजाब में जागी, कहा- 2022 चुनाव में सभी 117 सीटों पर लड़ेंगे

हरियाणा के किसान नेता गुरनाम सिंह चढ़ूनी की सियासी आकांक्षा अब पंजाब में भी जाग गई है। सियासत में आने को लेकर किसान संगठनों के निशाने पर आने के बाद भी वह अपनी ‘मुहिम’ से पीछे हटने को तैयार नहीं हैं। वह भारतीय किसान यूनियन (चढ़ूनी) के अध्‍यक्ष हैं। उन्‍होंने पंजाब में अगले साल होनेवाला विधानसभा चुनाव लड़ने और राज्य की सभी सीटों पर अपने उम्‍मीदवार खड़े करने का ऐलान किया है। इसके साथ ही उन्‍होंने अपना नया सियासी संगठन ‘मिशन पंजाब’ के गठन की भी घोषणा की है।

बता दें‍ कि चढ़ूनी को सियासत में आने के बयानों के कारण पिछले दिनों संयुक्‍त किसान मोर्चा से निलंबित कर दिया गया था। आंदोलन कर रहे किसान संगठनों ने ऐलान कर रखा है कि उनका राजनीति से कोई लेना-देना नहीं है और सिंघू और टिकरी बार्डर पर आंदोलन के दौरान नेताओं को मंच पर नहीं आने दिया जा रहा है। इसके बावजूद चढ़ूनी सियासत में आने को लेकर खुलकर मुहिम छेड़ेे हुए हैं।

किसान नेताओं से मीटिंग के बाद चढ़ूनी ने कहा कि किसानों की समस्याओं का समाधान करने के लिए अब स्वयं सियासी मैदान पर उतरना होगा। अब तक सभी दलों ने किसानों को वोट बैंक के रूप में इस्तेमाल किया है, लेकिन उनके हित में कभी कोई कार्य नहीं किया। चढ़ूनी ने कहा कि 2022 में पंजाब में सरकार बनाने के बाद भारत मिशन के तहत देश में सरकार बनाई जाएगी। उन्होंने कांग्रेस व अकाली दल को किसानों का हितैषी नहीं दुश्मन बताया है।

 

 

34 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *