exerciese heart attack relations: Exercise may increase risk of heart attack, True or False: व्यायाम करने से दिल का दौरा पहने का खतरा कितना सच, विशेषज्ञ से जानें


लंदन
यह बात तो हर कोई जानता है कि एक्सरसाइज हार्ट के लिए अच्छी होती है। कई लोग अपनी बॉडी और हार्ट को सही रखने के लिए खूब एक्सरसाइज भी करते हैं। लेकिन, हाल में ही आई एक रिसर्च में बताया गया था कि अधिक एक्सरसाइज करने से खून को शरीर के अलग-अलग हिस्सों में लेकर जाने वाली धमनियां ब्लॉक हो सकती हैं। जिसके बाद से लोगों के मन में कई शंकाएं पैदा हो गईं। अब ब्रिटेन के ब्रैडफोर्ड विश्वविद्यालय के एनाटॉमी एंड मस्कुलोस्केलेटल डिपॉर्टमेंट के लेक्चरर मैथ्यू फैरो ने लोगों की शंकाओं का समाधान करते हुए अपनी राय दी है।

ज्यादा मेहनत करने वाले लोगों का सीएसी स्कोर भी ज्यादा
हॉर्ट की धमनियों के ब्लॉक होने वाली इस स्टडी ने काफी सुर्खियां भी बटोरी थी। इसमें पाया गया कि अधिक सक्रिय (शारीरिक मेहनत करने वाले) लोगों में कम सक्रिय लोगों की तुलना में अधिक कोरोनरी आर्टरी कैल्शियम (सीएसी) स्कोर होता है। सीएसी स्कोर कोरोनरी धमनियों की दीवारों में कैल्शियम की मात्रा को मापता है – धमनियां जो रक्त की आपूर्ति करती हैं और इसलिए हृदय की मांसपेशियों को ऑक्सीजन देती हैं।

कैल्शियम बढ़ने से दिल के दौरे का खतरा
कोरोनरी (हृदय) धमनियों में कैल्शियम की वृद्धि से व्यक्ति को दिल का दौरा पड़ने का खतरा बढ़ सकता है क्योंकि कोरोनरी धमनियों में कैल्शियम की उपस्थिति इसका संकेत है कि एक परत जमी हो सकती है, जिसे एथेरोस्क्लेरोसिस के रूप में जाना जाता है। इस परत का निर्माण आमतौर पर अस्वास्थ्यकर जीवनशैली का परिणाम होता है, जैसे धूम्रपान करना, शराब पीना, अधिक वजन होना और पर्याप्त व्यायाम न करना। इसलिए डॉक्टर अक्सर हृदय रोग के जोखिम वाले लोगों की पहचान करने के लिए सीएसी स्कोर का उपयोग करते हैं।

साउथ कोरिया और अमेरिकी वैज्ञानिकों ने किया शोध
दक्षिण कोरिया में यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन और अमेरिका में जॉन्स हॉपकिन्स ब्लूमबर्ग स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के शोधकर्ताओं ने मार्च 2011 और दिसंबर 2017 के बीच 30 वर्ष और उससे अधिक आयु के 25,000 से अधिक स्वस्थ वयस्कों (मुख्य रूप से पुरुष) के कोरोनरी धमनी कैल्शियम का विश्लेषण किया। अध्ययन अवधि के दौरान इन वयस्कों की कोरोनरी धमनियों में परिवर्तन की निगरानी के लिए दो व्यापक जांच की गई।

रिसर्च का मकसद संबंधों का पता लगाना था
शोधकर्ता यह पता लगाना चाहते थे कि क्या शारीरिक गतिविधि और कोरोनरी धमनी के कैल्सीफिकेशन में वृद्धि के बीच कोई संबंध है। इन सभी से यह पता लगाने के लिए एक प्रश्नावली पूरी करायी गई कि उन्होंने प्रत्येक सप्ताह कितना व्यायाम किया। लगभग आधे प्रतिभागियों (47 प्रतिशत) को निष्क्रिय के रूप में वर्गीकृत किया गया था, 38 प्रतिशत को मध्यम रूप से सक्रिय होने के रूप में वर्गीकृत किया गया और 15 प्रतिशत को अधिक सक्रिय (एक दिन में 6.5 किलोमीटर दौड़ने के बराबर) के रूप में वर्गीकृत किया गया था।

वैज्ञानिकों को मिला यह परिणाम
अध्ययन की शुरुआत में किए गए स्कैन में निष्क्रिय समूह में औसत सीएसी स्कोर 9.5, मध्यम सक्रिय समूह में 10.2 और अधिक सक्रिय समूह में 12 का औसत दिखा। अध्ययन अवधि के अंत में, जो मध्यम और अधिक सक्रिय थे, उनके औसत स्कोर में 3 से 8 की बढोत्तरी देखीह गयी । इसलिए मध्यम और अधिक व्यायाम से धमनियों में कैल्शियम जमा होने लगता है।

एक्सरसाइज से हार्ट अटैक का खतरा नहीं, करते रहें
हालांकि, शोधकर्ताओं ने व्यायाम के कारण उच्च कोरोनरी धमनी कैल्शियम स्कोर और हृदय संबंधी घटनाओं, जैसे दिल का दौरा या स्ट्रोक के बीच कोई संबंध नहीं पाया। तो ऐसी रिपोर्ट जो यह दावा करती है कि व्यायाम ‘दिल के दौरे के जोखिम को बढ़ाता है’ गलत और खतरनाक दोनों हैं। शोधकर्ता इस तरह की व्याख्या के खिलाफ चेतावनी दी। उनका निष्कर्ष था: शारीरिक गतिविधि के हृदय संबंधी लाभ निर्विवाद हैं।



Source link

21 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *