सऊदी अरब में महिलाओं पर लगे यात्रा प्रतिबंधों में ऐतिहासिक सुधार लागू

 

अकेले सफर पर महिलाओं के बढ़े कदम

हाइलाइट्स

  • सऊदी अरब में 21 साल से अधिक की महिलाओं को अकेले यात्रा का मिला अधिकार
  • महिलाओं को पासपोर्ट बनाने, विदेश यात्रा के लिए संरक्षक की अनुमति लेना अनिवार्य नहीं
  • ट्विटर पर पासपोर्ट मंत्रालय ने ऐतिहासिक सुधारों के लागू होने की जानकारी दी है
  • सितंबर 2017 में ही सऊदी में महिलाओं को ड्राइविंग का अधिकार भी मिला था

रियाद

सऊदी अरब में 21 वर्ष से अधिक आयु की महिलाओं के लिए यात्रा के क्षेत्र में बड़े सुधार लागू कर दिए गए। पासपोर्ट हासिल करने और किसी पुरुष संरक्षक की अनुमति के बिना विदेश यात्रा की इजाजत संबंधी ऐतिहासिक सुधारों को लागू कर दिया गया है। इन सुधारों की घोषणा इसी महीने की शुरुआत में की गई थी। मंगलवार को इन्हें लागू कर दिया गया।

 

21 साल से अधिक की महिलाओं की मिली छूटइस कदम से प्रतिबंधात्मक संरक्षकता प्रणाली कमजोर हुई है जो लंबे समय से महिलाओं के दमन का प्रतीक रही है। विभाग ने ट्विटर पर कहा, ‘पासपोर्ट विभाग ने पासपोर्ट की अवधि बढ़ाने या पासपोर्ट जारी करने और देश से बाहर यात्रा की अनुमति के संबंध में 21 वर्ष और उससे अधिक महिलाओं के आवेदन स्वीकार करने आरंभ कर दिए हैं।’

 

पुरुष संरक्षकों के बिना अकेले सफर कर सकेंगी महिलाएं

इससे पहले महिलाओं को इन कामों के लिए उनके पुरुष संरक्षकों-पति, पिता और अन्य पुरुष संबंधियों की इजाजत की आवश्यकता होती थी। इसके अलावा, सऊदी अरब में महिलाओं को बच्चे के जन्म, शादी या तलाक को आधिकारिक रूप से पंजीकृत कराने का अधिकार मिल गया है। उन्हें पुरुषों की ही तरह नाबालिग बच्चों के संरक्षक के तौर पर मान्यता दी गई है। इस सुधारों की देश और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर व्यापक प्रशंसा हुई है, लेकिन कट्टर रूढिवादियों ने इन्हें गैर इस्लामी बताकर इनकी निंदा की है।

सऊदी अरब में प्रकाशित एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, ऐतिहासिक सुधारों को लागू करने का असर नजर भी आ रहा है। 19 अगस्त को 1 हजार से अधिक महिलाओं ने देश छोड़कर अकेले दूसरे देशों की यात्रा की। सितंबर 2017 में ही सऊदी में महिलाओं को ड्राइविंग का ऐतिहासिक अधिकार मिला था।

Source link

27 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *