जैक मा बोले- एआई के युग में इंसान का वजूद प्रेमभाव से ही बच पाएगा

 

    • अलीबाबा के फाउंडर जैक मा और अमेरिका के टेस्ला के सीईओ एलन मस्क ने गुरुवार को कॉन्फ्रेंस में हिस्सा लिया

 

    • दोनों ने आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस को लेकर करीब एक घंटे तक चर्चा की

 

    • मा ने कहा- आज कामयाबी के लिए भावना और प्रतिभा जरूरी, लेकिन एआई के युग में प्रेमभाव से ही बच पाएगा

 

 

शंघाई.  दुनिया के दो बड़े अमीर शख्स चीन के अलीबाबा के फाउंडर जैक मा और अमेरिका के टेस्ला के सीईओ एलन मस्क। दोनों ने आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (एआई) को लेकर करीब एक घंटे तक चर्चा की। जैक मा ने कहा- ‘यह असंभव है कि इंसान मशीनों के जरिए नियंत्रित होंगे, क्योंकि उनके पास दिल होता है।’ इस पर मस्क ने जमकर ठहाका लगाया। कहा- ‘मैं नहीं जानता भाई। हो सकता है ये गलत साबित हो।’ जैक मा की नेटवर्थ 2.89 लाख करोड़ रुपए है, जबकि एलन मस्क की  नेटवर्थ 1.58 लाख करोड़ रुपर है। पेश है दोनों के बीच चर्चा के संपादित अंश-

जैक मां:  मैं तकनीकी समझ रखने वाला नहीं हूं। मैं जीवन के बारे में ज्यादा सोचता हूं। मेरा मानना है कि एआई हमारे समाज के लिए एक नया अध्याय शुरू करने जा रहा है। यहां लोग बाहरी दुनिया के बजाय खुद को बेहतर तरीके से समझने की कोशिश करेंगे। मैं बहुत आशावादी हूं। मैं नहीं मानता कि एआई से कोई खतरा है। इंसान के पास इसका फायदा उठाने की पर्याप्त समझ है।
एलन मस्क: मैं इंसान को नहीं जानता। हो सकता है कि यह गलत साबित हो। कंप्यूटर की प्रगति जिस तेज गति से हो रही है, वह आपके सामने है। वीडियो गेम इसका एक श्रेष्ठ उदाहरण है। यदि आप 40 साल पीछे जाएंगे तो शुरुआत में केवल टेबल टेनिस गेम पोंग था, जिसमें सिर्फ टू डी ग्राफिक्स का इस्तेमाल किया था। अब आपके पास सजीव दिखने वाले वीडियो गेम्स हैं और लाखों लोग इसके दीवाने हैं। तकनीकी तेजी से बदल रही है। और हमारे समझने की क्षमता को भी पीछे छोड़ दिया है।

जैक मा: आप मंगल पर जाना चाहते हैं तो जाएं। मैं मंगल ग्रह पर जाने के लिए उत्सुक नहीं हूं। मैं धरती पर ही रहने में विश्वास रखता हूं। मंगल के बारे में आप इतने क्यों गंभीर हैं?
एलन मस्क: यह महत्वपूर्ण है कि हम ऐसे कदम उठाएं जो भविष्य में हमारी अंतरआत्मा के साथ जुड़ सकें। हम इसे यूं ही नहीं छोड़ सकते। अभी तक हमारा एलियंस से सामना नहीं हुआ है। ये एलियंस कहां है? हैं भी कि नहीं। ऐसा इसलिए कर रहे हैं ताकि इंसान दूसरे ग्रहों पर जा सके।

जैक मां: एआई के युग में हमें प्रेमभाव से रहना पड़ेगा। आज कामयाबी के लिए भावना और प्रतिभा जरूरी है लेकिन एआई के युग में इंसान का वजूद प्रेमभाव से ही बच पाएगा
एलन मस्क: एआई मतलब प्रेम है?

जैक मा: हां, यही सही है।
एलन मस्क: मैं भी सहमत हूं। प्रेम ही इसका सबसे सही जवाब है।

Source link

16 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *