पुलिसवालों के फूले हाथ-पांव जब मोदी के डॉक्टर का श्री हरिमंदिर साहिब से मोबाइल चोरी हुआ

अमृतसर: श्री हरिमंदिर साहिब में माथा टेकने के लिए आए दिल्ली के डाक्टर का मोबाइल फोन चोरी हो गया। डाक्टर पुलिस के पास पहुंचा तो पुलिस ने आम लोगों की तरह शिकायत लेकर उसकी शिकायत को पुराने केस के साथ जोड़कर चलता कर दिया, मगर यह कोई आम डॉक्टर नहीं था। डॉक्टर दिनेश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा अमले में तैनात हैं। जैसे ही दिल्ली से लेकर चंडीगढ़ तक टैलीफोन की घंटियां खड़कीं तो पुलिस के हाथ-पांव फूल गए और पुलिस ने सी.सी.टी.वी. फुटेज के आधार पर जेब कतरों की पहचान कर ली।

श्री हरिमंदिर साहिब में दर्शन करने के लिए आने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए थाना गलियारा बनाया गया था। श्रद्धालुओं की सुरक्षा के मद्देनजर वहां पर इंस्पैक्टर रैंक के अधिकारी एस.एच.ओ. लगाया गया है, मगर इसके बावजूद भी आए दिन पुलिस जेब कतरों और चोरों पर मेहरबान नजर आती है। प्रधानमंत्री की सुरक्षा में तैनात डा.दिनेश एक आम श्रद्धालु की तरह श्री हरिमंदिर साहिब में माथा टेकने के लिए आए। माथा टेकने के बाद दोपहर 12:00 बजे व लंगर हाल की तरफ गए। वहां पर काफी भीड़ थी जिसमें उनका मोबाइल फोन चोरी हो गया। प्रधानमंत्री कार्यालय और सुरक्षा में तैनाती होने के कारण उनके मोबाइल में काफी जरूरी नंबर और रिकॉर्ड था। उन्होंने तुरंत पुलिस में शिकायत की। वह थाना गलियारा में शिकायत करने के लिए पहुंचे।

पुलिस ने उन्हें दूसरे राज्य का आम व्यक्ति समझकर उनसे शिकायत ली। पहले से ही दर्ज चोरी के पुराने मुकद्दमे के साथ जोड़कर उन्हें शिकायत की कापी थमा दी, मगर जब दिनेश द्वारा अपनी पहचान बताई गई और अपना मोबाइल चोरी होने की सूचना ऊपर तक पहुंचाई गई तो थाना गलियारा के एस.एच.ओ. सुखदेव सिंह समेत पुलिस तुरंत हरकत में आई। पुलिस ने श्री हरिमंदिर साहिब के लंगर हाल के बाहर लगे सी.सी.टी.वी. की फुटेज को खंगाला। फुटेज के दौरान पाया कि शातिर जेबकतरा निशान सिंह उर्फ शाना निवासी राझे दी हवेली, अंतरयामी कॉलोनी नजदीक चाटीविंड गेट ने अपने एक साथी के साथ मिलकर डाक्टर दिनेश का मोबाइल फोन चुराया है। इस फुटेज के बाद थाना गलियारा में अलग से निशान सिंह और उसके साथी के खिलाफ केस दर्ज किया है। वीरवार देर रात पुलिस द्वारा निशान सिंह को पकड़ने के लिए कार्रवाई जारी थी।

26 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *